वेब स्टोरी कैसे सेट करे


मै जब वेब स्टोरी पे काम कर रहा था तब कुछ सवाल सामने आ गए। काम तो कर रहा था। लेकिन मै अक्सर कुछ बाते भूल जाता हु जैसे के पोस्टर की इमेज साइज कितनी हो। इसकी को देखते हुए ये वेब स्टोरी को लेके पोस्ट बना रहा हु।

वेब स्टोरी क्यू बनानी चाहिए ?

  • इससे हम अपने ब्लॉग पे ट्रैफिक ला सकते है।
  • वेब स्टोरी पे एडसेन्स एक्टिव कर के कमाई कर सकते है।
  • हम कोई एफिलिएट प्रोग्राम चला रहे है, तो उसे भी वेब स्टोरी के जरिए कर सकते है।
  • आखिरी महत्वपूर्ण हम अपना ब्रैंड को बढ़ा सकते है।

वेब स्टोरी ३ मेजर पार्ट से बनती है। पोस्टर, कवर पेज , स्टोरी पेज

वेब स्टोरी पोस्टर – ये एक महत्वपूर्ण अंग है वेबस्टोरी का। जब भी डिस्कवर में दर्शक आता है और स्टोरीज देख रहा होता है। उसे अच्छा पोस्टर अपनी स्टोरी पे आने में मजबूर करता है।

बैकग्राउंड इमेज – इसपे वीडियो और एनीमेशन नहीं लगा सकते।

हाय क्वालिटी की इमेज का करे।

इमेज की साइज कमसे कम ६४० X ८५३ की होनी चाहिए। मै एक्साक्ट सेम साइज का इस्तमाल कर रहा हु। ज्यादा बड़ी साइज होगी तो चलेगा लेकिन लगते वक्त उसे क्रॉप किया जाता है।

आस्पेक्ट रेश्यो ३:४ का होना चाहिए।

टाइटल और पब्लिशर लोगो पोस्टर के निचले वाले हिस्से में ऑटो लग जाता है।

टाइटल – इसे ७० कॅरक्टर से कम रखना है।

पब्लिशर लोगो – इसका साइज ९६ X ९६ होना चाहिए। आस्पेक्ट रेश्यो १ : १ रखे।

अभी पोस्ट आधा अधूरा पड़ा हुआ है जल्द ही इसे पूरा कर लूंगा।

वेबस्टोरी बनाने के लिए प्लगइन & टूल्स

वेबस्टोरी बनाने के लिए दो प्लगइन का उपयोग किया जाता है।

गूगल का वेब स्टोरी प्लगइन – ये वेब स्टोरीज प्लगइन गूगल है।

मेक स्टोरी प्लगइन – बहुत सारे ब्लॉगर इस प्लगइन के जरिए स्टोरीज बनाते है। इसमें ज्यादा ऑप्शन है।

मै वेबस्टोरी के लिए गूगल वाला प्लग इन का उपयोग करता हु।

वेबस्टोरी कैसे बनाए –

में शुरू में वेब स्टोरी बना रहा था तो कुछ समझ नहीं आ रहा था। मुझे यू ट्यूब और ब्लॉग पे पूरी डिटेल जानकारी नहीं मिली। हर क्रिएटर हमें ये बताने में लगा था के कैसे वेब स्टोरी से पैसे कमाए और थोड़ी बहुत जानकारी दे रहा था। उसी प्रॉब्लम को देखते हुए ये स्टेप मेरे लिए मैंने सिख ली।

स्टेप १ – स्टोरी किस विषय पे बनानी है उसका स्केच बनाए।

स्टेप २ – पहला और आखरी पेज बनाए।

कवर पेज – टाइटल लिखे और जैसे पोस्टर बनाया है वो इमेज के साथ कुछ जानकारी और डाल दे।

आखरी पेज – क्लोजिंग रिमार्क के साथ ख़त्म करे। आपकी दूसरी ट्रेन्डिंग स्टोरी के बारे में बताए लिंक डाले।अपनी वेबसाइट का लिंक साझा करे।

स्टेप ३ – जो स्टोरी है उसके बिच में के ७-८ पेज बनाए।

मै वेब स्टोरी कैसे बनता हु इस पोस्ट के जरिए डिटेल्स के जानकारी दी है। उससे मेरा वेबस्टोरी बनाने का तरीका समझ आएगा।

वेबस्टोरी टिप्स & ट्रिक्स

वेबस्टोरी कम से कम ८ स्लाइड की होनी चाहिए और १५ स्लाइड से ज्यादा ना बनाए। हो सके तो इसमें एक १०-१५ सेकंड का वीडियो डाल दे।

वेब स्टोरी के लिए ओरिजिनल कन्टेन्ट अच्छा रहनेवाला है। अभी की दौड़ में सब लोग कॉपी पेस्ट पे फोकस कर रहे उनके लिए ये सिर्फ शॉर्ट टर्म काम होगा।

जैसे जैसे बहुत सारे वेब स्टोरी बनानेवाले आएंगे। तब अच्छा कन्टेन्ट ही रैंक होगा।

रेफरेंस Web Stories Workshop ,


Leave a Reply

Your email address will not be published.