डोमेन नेम क्या है

एक डोमेन नाम आपकी वेबसाइट का पता है। यह वह नाम है जो लोग आपकी वेबसाइट को खोजने के लिए अपने ब्राउज़र के URL बार में टाइप करते हैं। उदाहरण के लिए, इस वेबसाइट का डोमेन नाम,  webguide.in है | वैसे ही अलग अलग प्रकार के डोमेन नेम हमें देखने मिलते है।

डोमेन किसे कहते है ?

इंटरनेट पर हमें अपनी एक पहचान चाहिए , जिसके जरिए लोग हम तक पहुंच सकेंगे, एक ब्यापारी अपनी दुकान के नाम से पहचाना जाता है। जब अपनी शॉप के नाम को डोमेन ऑथोरिटी के पास रजिस्टर करता है। उसे उसके शॉप का डोमेन कहा जाता है।

इंटरनेट पे अलग अलग कंप्यूटर खोजने और पहचानने के लिए एक डोमेन नाम का उपयोग किया जाता है। कंप्यूटर आईपी पते का उपयोग करते हैं, जो संख्या की एक श्रृंखला है। हालांकि, १२७.०.०.१ जैसे अलग अलग नंबर याद रखना मुश्किल है। समजो मेरा वेबगाइड का आईपी १२७.३.५.६ है और मेरे वेबसाइट पे आने के ये नम्बर ध्यान में रखना मुश्कील हो सकता है।

इस वजह से, डोमेन नाम विकसित किए गए थे और आईपी पते का उपयोग करने के बजाय इंटरनेट पर संस्थाओं की पहचान करने के लिए डोमेन नेम का उपयोग किया जाता है |

एक डोमेन नाम अक्षरों और संख्याओं का कोई भी कॉम्बिनेशन हो सकता है, और इसका उपयोग विभिन्न डोमेन नाम एक्सटेंशन, जैसे .com, .in , .net, .xyz के संयोजन में किया जा सकता है। उपयोग करने से पहले डोमेन नाम पंजीकृत (रजिस्टर) होना चाहिए।

प्रत्येक डोमेन नाम यूनिक होता है। किसी भी दो वेबसाइटों में एक ही डोमेन नेम नहीं हो सकता। अगर कोई www.webguide.in ब्राउज़र  में टाइप करता है, तो यह मेरी वेबसाइट पर आएगा किसी और के वेबसाइट पे नहीं। इंटरनेट पर, आपका डोमेन नाम आपकी विशिष्ट पहचान है।

किसी भी व्यक्ति, व्यवसाय या संगठन की इंटरनेट उपस्थिति की योजना बनाकर डोमेन नाम में निवेश करना चाहिए।

अपना स्वयं का डोमेन नेम, वेबसाइट और ईमेल पते होने से आपको और आपके व्यवसाय को अधिक पेशेवर रूप देता है। एक बिज़नेस के लिए डोमेन नेम पंजीकृत (रजिस्टर) करने का एक और कारण कॉपीराइट और ट्रेडमार्क की रक्षा करना, क्रेडिटबिलिटी का निर्माण करना, ब्रांड जागरूकता बढ़ाना और खोज (सर्च) इंजन में अपना स्थान बनाना है।

डोमेन की किंमत क्या होती है ?

एक डोमेन नाम की कीमत आम तौर पर प्रति वर्ष ३०० से ५,०००  के बीच होती है। जब भी आप स्टार मार्क देखे तो समज जाना है की ये प्राइस पहले साल के लिए है |  आप को अगले साल रिन्यू करते वक़्त ज्यादा चार्जेस लग सकते है |

पहले साल पे आप को in डोमेन नेम २९९ में मिलेगा और अगले साल ८०० रुपये देने होंगे | आगे हर साल ८०० से रिन्यू करना होगा | आप इसके लिए कीमत देख के हिसाब कर ले | पहले साल पे सस्ता लेके आगे हर साल ज्यादा पैसा देना महँगा सौदा हो सकता है | इसलिए रिन्यूअल की क्या कीमत होगी वो देखना जरुरी है।

मुझे खुद को कुछ डोमेन सस्ते की चक्कर में महंगे गिर रहे है। कभी कभी ५-१० के लिए डोमेन फी बहुत ही सस्ती होती है। जैसे के in डोमेन २७०० से ३००० तक १० साल के लिए मिल रहा था।

बेस्ट डोमेन नेम कैसे  चुने ?

किसी भी प्रकार की साइट शुरू करते समय एक डोमेन नाम चुनना प्रथम चरण है, चाहे वह एक व्यक्तिगत ब्लॉग, पोर्टफोलियो, ऑनलाइन दुकान या कॉर्पोरेट वेबसाइट हो।

आपका डोमेन नाम आपकी ऑनलाइन पहचान का एक मुख्य हिस्सा है। इसलिए, आपको एक ऐसे नाम के लिए लक्ष्य बनाना चाहिए जो प्रभावी ढंग से आपके व्यवसाय को आकर्षक और बढ़िया बनाएगा।

मैंने कुछ सुझाव एकत्रित किए हैं जो आपकी वेबसाइट के लिए एक डोमेन नाम बनाने की प्रक्रिया में आपकी सहायता कर सकते हैं।

अपने डोमेन नाम को छोटा रखें

याद रखने में आसान होने के लिए एक छोटा डोमेन नाम हमेशा एक बेहतर विकल्प होता है। इसके अलावा, यदि आपका नाम बहुत लंबा है, तो आपके ग्राहक इसे गलत तरीके से लिख सकते हैं या स्पेलिंग की गलती कर सकते हैं।

दूसरे शब्दों में, आपका डोमेन नाम जितना छोटा होगा, उतना अच्छा होगा। ज्यादा से ज्यादा ८ या ९ कॅरक्टर होने चाहिए | आप कोई भी फेमस वेबसाइट देखोगे तो उसमे आप को बहुत कम कॅरक्टर दिखेंगे। flipkart, amazon , croma , myntra , bigbasket इत्यादी।

आपके नाम को आपके ब्रांड के साथ जोड़ देंगे ऐसे कीवर्ड का उपयोग करें

जब आपके डोमेन नाम की बात आती है, तो यह सबसे अच्छा है कि आप यह सुनिश्चित करें कि यह आपके उत्पाद या सेवाओं के बारे में एक सटीक जानकारी देता है जो आप दे रहे हैं।

इसीलिए आपके डोमेन नाम में कीवर्ड लगाना, जो कि उस विशेष सेवा की तलाश में लोग अपने सर्च इंजिन में सबसे अधिक टाइप करेंगे।

हाइफ़न और संख्या से दूर रहें

जब तक यह आपके व्यवसाय के लिए बिल्कुल आवश्यक नहीं है, आप अपने डोमेन नाम में संख्याओं और हाइफ़न (-) का उपयोग करने से दूर रहें।

संख्याओं को भूल जाना आसान होता है, और हाइफ़न को भूल जाते है।

उस क्षेत्र को लक्षित करें जहां आप अपना व्यवसाय संचालित करते हैं

यदि आप अपना व्यवसाय स्थानीय स्तर पर करते हैं, तो आप उस क्षेत्र को अपने डोमेन नाम में शामिल कर सकते हैं। बस अपने राज्य या शहर का नाम जोड़ें जिसमें आप व्यवसाय कर रहे हैं। इस तरह आप अपने टार्गेटेड दर्शकों को अधिक प्रभावी ढंग से लक्षित कर रहे हैं।

आपका डोमेन नाम यूनिक और आकर्षक हो

आपका डोमेन नेम ऐसा हो के जिसे लोगो को टाइप करने में आसानी हो, जल्द ही याद आये, स्पेलिंग में कोई गलती ना करे ।

अपना डोमेन एक्सटेंशन समझदारी से चुनें

अपनी वेबसाइट जैसे .com या .in के लिए एक उपयुक्त एक्सटेंशन चुनना थोड़ा आसान भी है और मुश्किल भी। आपको लोकल मार्केट पे ही काम करना हो तो .in अच्छा रहेगा। यदि आप का विचार इंटर नॅशनल ग्राहकों पर होगा तो .com सही रहेगा।

विभिन्न डोमेन एक्सटेंशन के विशिष्ट उपयोग हो सकते हैं। अभी बहुत सारे एक्सटेंशन आ गए है जैसे .car, .loan, .guru, .work.

अब तक सबसे लोकप्रिय .com है। आपको यह ध्यान में रखना चाहिए कि इस कारण से, एक छोटा और अच्छा डोमेन नाम खोजना मुश्किल हो सकता है। इसलिए आप अलग एक्सटेंशन का उपयोग कर सकते है।

डोमेन और सब डोमेन में क्या डिफरेंस है ?

webguide.in ये एक डोमेन है। उसे हमें खरीदना होता है।

shop.webguide.in इसे सब डोमेन कहते है। इसे डोमेन का मालिक खुद बना सकता है। उसकी लिए कोई फी नहीं लगती।

हमने अब तक डोमेन के बारे में बहुत सारी बातो पे चर्चा की है। इससे आपको डोमेन के बारे में आनेवाले सवालो के जवाब मिले होंगे ऐसी आशा करता हु।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *