जब आप एक वेबसाइट का निर्माण कर रहे हैं या एक ब्लॉग शुरू कर रहे, इन सब के  लिए क्या चाहिए एक नाम । एक अच्छा डोमेन नेम हमें सभी वेबसाइट की भीड़ के बीच खड़े होने में मदद कर सकता है।

सही नाम खोजना इतना महत्वपूर्ण है कि नामकरण करने वाली फर्म और ब्रांड सलाहकार हजारों रुपए का शुल्क लेते हैं ताकि कंपनियों को सही तरीके से मदद मिल सके।

क्यों एक अच्छा डोमेन नेम महत्वपूर्ण है |

जब यह सही नाम खोजने की बात आती है, तो यह ब्रांडबिलिटी के बारे में है। उन सभी दुकानों के बारे में सोचें जिन्हें आप प्यार करते हैं और जो सेवाएं आप हर दिन उपयोग करते हैं।

गूगल , क्वोरा, फ्लिपकार्ट, अमेज़ॉन जैसे ब्रांड उनके द्वारा प्रदान किए जाने वाले विशेष उत्पादों और सेवाओं का पर्याय बन गए हैं।

ब्रैंड एक पहचान हो जाती है| लोग अपने ब्रैंड की वस्तु या सेवा प्राप्त होने के कुछ समय तक इंतजार भी करते है | 

याद करने के लिए आसान

एक ऐसा नाम होना चाहिए जिसे आपके दर्शक आसानी से याद रख सकें। अपने नाम को यादगार बनाने के लिए  इसे छोटा और सरल रखें।

डोमेन नेम जितना छोटा होगा, लोगों के दिमाग में इसके चिपके रहने की संभावना उतनी ही अधिक होगी।

कहने में आसान

जब आप नामों के लिए विचार-विमर्श कर रहे हों, कोई नाम हमें अच्छा लगता है, तो उसे जोर से कहें। इससे आपको उसके सही उच्चारण कैसा है | वो कहने पे कितना आसान है इस बात पे ध्यान रखना जरुरी होता है |

कुछ सबसे सफल कंपनी के नाम कहने के लिए मजेदार हैं।

ब्रैंडेबल नाम दिखे

हम सब जानते है दीर्घकालीन सफलता के लिए ब्रांडिंग महत्वपूर्ण है | कुछ पहलू है उसे ब्रैंड वैल्यू दिलाने में मदद करते है |

  • ब्रैंडेबल नाम का कोई मीनिंग नहीं होता (गूगल, Fiverr , क्वोरा, Zomato )
  • इसमें एक यूनिकनेस दिखता है | कॉम्पिटिटर इसका फायदा नहीं उठा सकते |
  • ये बोलने में आसान होते है | 

आप इसे  अलग अलग कॉम्बिनेशन में चेक कर सकते है | आपको स्पेलिंग लिखते वक्त कोई कन्फूजन नहीं होना चाहिए | 

डोमेन नेम का एक्सटेंशन .com या  .in हो 

आप जब नाम वेबसाइट या ब्लॉग डोमेन फाइनल करते है तो आपको मालूम होना चाहिए  की एक्सटेंशन भी इसमें मुख्य भूमिका निभाता है |

.com , .net या .in इनकी वैल्यू दर्शको के मन में अच्छी है | 

इसके अलावा आप अलग अलग एक्सटेंशन देखते है तब आप को क्या लगता है ?

हा , आपने सही सोचा उनका इम्प्रेशन नहीं दिख रहा |

ट्रेडमार्क 

आप कोई नाम पसंद आता है तो उसे फाइनल करने से पहले ये देख ले इस नाम कोई ट्रेडमार्क रजिस्टर किया गया है या नहीं | यदि रजिस्टर  होगा तो उसे छोड़ देना बेहतर होगा |

डोमेन में कीवर्ड का इस्तमाल 

हो सके तो आपका ब्लॉग जिस टॉपिक पे हो उसमे जो कीवर्ड आप लेने वाले है | उसी में कुछ डोमेन में फिट बैठनेवाले कीवर्ड होंगे तो उसे आप डोमेन में ले सकते है |

इसे क्रिएटिव बनाने के लिए कीवर्ड के साथ दूसरा वर्ड वर्ड लेके कुछ अच्छा नाम निकाल सकते है |  

डोमेन नाम में हाइफन (-) से बचे  

जब भी डोमेन ले इसमें हाइफन न हो | web-guide.in, city-sports.com ऐसे डोमेन में दर्शक – भूल जाते है और वो सीधे कॉम्पिटिटर के ब्लॉग या वेबसाइट पे जाते है |

डबल लेटर ना रखे   

कभी भी डबल लेटर आने से बचे  press setup  इसका डोमेन presssetup हो जायेगा | दर्शक इससे कंफ्यूज हो जाता है |

डोमेन  कहा से ले ?

Namecheap – ये एक रेप्यूटेड डोमेन प्रोवाइडर है | नेमचिप पे  सस्ते में डोमेन मिल सकता है | अभी कॉम डोमेन ५५० में मिल रहा है बल्कि ये ८०० या ९०० में मिलता है |

Bluehost – अच्छा होस्टिंग सर्विस प्रोवाइड करता है | ब्लूहोस्ट में आपको डोमेन भी मिल जाता है | 

 

 

आप पहली बार ब्लॉग या वेबसाइट बना रहे है तो हमारी पोस्ट वेबसाइट निर्माण कैसे करे इसे रेफर कर सकते है |

आप डोमेन का रिसर्च करते वक्त कुछ अलग सा डोमेन मिलता है | लेकिन आपको अभी उसकी जरुरत नहीं है | लेकिन आप ऐसे लगता है के इसमें कुछ दम है | तब उस डोमेन को रजिस्टर कर के रख सकते है |

आगे उसको बेच दिया तो उससे अच्छी कमाई भी हो सकती है | मुझे ऐसे ही एक डोमेन लेते वक्त foolform.com नाम अच्छा लगा है |

मालूम नहीं आगे में इसपे ब्लॉग बनाऊगा  या नहीं लेकिन रजिस्टर कर के रखा है |  शायद बाद में बेचने के लिए रख सकता हु |