क्या आप तैयार है अपनी नयी वेबसाइट बनाने के लिए ? क्या ये इतना आसान है के खुद ही बिना कोई जानकारी के वेबसाइट बना सके | 

इसके लिए  सिर्फ आप के पास वेबसाइट बनाने की चाहत होनी चाहिए |

आपको आसान तरीके से सिखातु हु की कैसे अपनी वेबसाइट खुद ही बना सकते है | और अपने बिज़नेस को बढ़ने में मदत हो सकती है |

मैंने अपने लिए बहुत सी वेबसाइट बनायीं है , फिर भी कुछ कुछ बाते भूल जाता हु | फिर से थोड़ा दिमाग के जोर लगाने के बाद मेरी गाड़ी पटरी पे आती है | 

इसी को ध्यान रखते हुए में इस वेबसाइट के जरिये मेरा सपोर्ट सिस्टम बना रहा हु | जो जो दिकत मै फेस कर रहा हु उसे में इस जगह पे इकट्ठा कर के मेरी आगे की मुश्किल और समय बचा रहा हू  |

जीरो नॉलेज के जरिये अपनी वेबसाइट कैसे बनाये ?

जीरो नॉलेज का मतलब है की अब तक आपको कुछ भी तकनीकी  मालूमात नहीं है और आप वेबसाइट/ब्लॉग बनाना चाहते है |  

लेकिन आगे आपको वेबसाइट बनाने के बारे में के जो कन्सेप्ट है उसे समज लेना है | जो भी आपको बेसिक नॉलेज की जरुरत है उसे समज ले | 

ज़माने के साथ चलना है तो अपनी जगह इस ऑनलाइन दुनिया में बनानी होगी |

   

अपनी वेबसाइट बनाने के लिए कितना खर्चा आएगा ?

वेबसाइट बनाते वक़्त क्या क्या चीजे लगती है, और उसपे हम कितना खर्चा करनेवाले है | इस पर आपकी वेबसाइट की कीमत तय होगी | 

वेबसाइट बनाने के लिए हमें  डोमेन, होस्टिंग, थीम और कुछ प्लगइन लगने वाले है | तो देखते है के हर एक पे कितना खर्चा करना पड़ेगा | 

पहले  बात आती है डोमेन की, इसके लिए हर साल की फी तय होती है, उसे हमें देना होगा | डोमेन ६०० से ९०० के बीच के रेट में मिल जाएगा | लेकिन आपने उसे डिस्काउंट ऑफर देख के लिया तो आपको २ साल के लिए ८०० से १००० के बीच मिल सकता है | 

होस्टिंग लेने के लिए साल के ६०० से लेके ५०००  तक खर्चा आता है | आप क्या फीचर इस्तमाल कर रहे है उसपे आपका खर्चा निर्भर करता है | 

आपको वर्डप्रेस की थीम फ्री और पेड दोनों में मिलेगी | आपको कई अच्छी फ्री मिल जाएगी, इससे आपका थीम का खर्च बच जायेगा | यदि आपको पेड़ थीम लेनी होगी तो वो २००० से १०००० तक मिल सकती है | प्लगइन में आपकी जरुरत के हिसाब  से उसपे आपका खर्च होगा | 

आपकी वेबसाइट के लिए साल का कम से कम खर्चा  ८०० से १००० तक आ सकता है | इसमें सिर्फ डोमेन और होस्टिंग ही शामिल है | बाकी फ्री वाले थीम प्लगइन इस्तमाल करेंगे | 

इससे भी कम पैसे में अपनी वेबसाइट बनानी हो तो आपको ब्लॉगर पे वेबसाइट को होस्ट कर सकते है सकते है और इससे आपको सिर्फ  ८०० से १००० रुपये दो साल के लगने वाले है | मतलब साल में सिर्फ ५०० रुपये तक वेबसाइट का खर्चा (एक्सपेंसेस) आ जायेगा |

आपको ये भी खर्चा बचाना है तो आप स्पोंसरशिप ले सकते है | और वेबसाइट का खर्चा जीरो कर ले | इसके आप को कमेन्ट करना होगा, हो सके तो आप के लिए स्पोंसरशिप कैसे मिलेगी इसके लिए में मदत कर सकता हु | 

क्या मुझे वेबसाइट बनाने में  तकनीकी कौशल की आवश्यकता होगी ?

यह आपकी वेबसाइट के उद्देश्य पर निर्भर करता है। जब भी आप इसके बारे में सोचते तो पहले मन में आता है एचटीएमएल, सीएसएस, जावास्क्रिप्ट और पीएचपी  जैसे लैंग्वेज याद आते है | 

लेकिन यह वेबसाइट बनाने का एकमात्र तरीका नहीं है | भले ही आप इन चीजों के तकनीकी पक्ष से बहुत परिचित न हों, आप आसानी से एक अच्छी वेबसाइट सेट कर सकते हैं।

वर्डप्रेस जैसे  आसान प्लैटफॉर्म  से आप अपनी वेबसाइट आसानी से थोड़ी नॉलेज ले के बना सकते है | आप इस साइट में वेबसाइट बनाने के तरीके आसानी से सिख सकते है | 

अपनी वेबसाइट की संरचना और सामग्री के लिए एक योजना बनाएं (Planning) |

आपने वेबसाइट बनाने का सोच लिया है | तो आपका पहला काम आपकी वेबसाइट कैसे हो उसकी योजना बनाना है |

ठीक उसी तरह जैसे कि एक रेसिपी का पालन किए बिना खाना बनाना शुरू करना हमेशा एक अच्छा विचार नहीं है, कम से कम अगर आपके पास कोई अनुभव नहीं है, तो वेबसाइट बनाने के लिए भी यही होता है।

बिना योजना के वेबसाइट बनाना ब्लूप्रिंट के बिना भवन का निर्माण करने जैसा है। वेबसाइट की प्लानिंग के बारे जाने डिटेल में | 

  • अपना उद्देश्य और लक्ष्य निर्धारित करें।
  • एक बजट बनाएँ।
  • डिजाइन और सामग्री दोनों के संदर्भ में अन्य अपने फील्ड की वेबसाइटों पर एक नज़र डालें।
  •  अपनी वेबसाइट पर जो चाहते हैं उसका मसौदा तैयार कर लें |
  • आपकी वेबसाइट पर सभी पृष्ठों के साथ एक सूची  बनाएं। 
  • एक कंटेंट रणनीति (Strategy) बनाएँ।  
    • ब्लॉग पोस्ट , डॉक्यूमेंट , पिक्चर , वीडियो , स्लाइड शो

वेबसाइट  तैयार करने के सबसे लोकप्रिय तरीके| 

एक वेबसाइट बनाने के सबसे लोकप्रिय तरीकों  पे बात करते  हैं।  वेबसाइट बिल्डर , वर्डप्रेस जुमला, ब्लॉगर जैसे अच्छे और सिंपल तरीके से हम अपनी वेबसाइट बना सकते है | 

वेबसाइट बिल्डर के साथ एक वेबसाइट की स्थापना

आइए सबसे आसान विकल्प शुरू करते हैं:

वेबसाइट बिल्डर। यह एक “ऑल-इनक्लूसिव” पैकेज है, आमतौर पर टेम्पलेट (डिज़ाइन), संपादक, होस्टिंग, डोमेन नाम, ईमेल पता और समर्थन प्रदान करेगी। वेब बिल्डर कठिन कार्यों का ध्यान रखता है।

फायदे :

  • इसका उपयोग करना बहुत आसान है|
  • आपको अतिरिक्त सॉफ़्टवेयर की आवश्यकता नहीं है |
  • आप तकनीकी ज्ञान के बिना शुरू कर सकते हैं।
  • अपडेट और सुरक्षा पहलुओं को वेबसाइट बिल्डर द्वारा ही नियंत्रित किया जाता है।
  • पूर्वनिर्धारित डिज़ाइन टेम्प्लेट जिन्हें आप अपनी इच्छानुसार बना सकते हैं | 

कमिया :

  • आप हमेशा अतिरिक्त सुविधाओं को नहीं जोड़ सकते (लिमिटेशन )
  • यह उतना लचीला नहीं है।

CMS सामग्री प्रबंधन प्रणाली के साथ एक वेबसाइट बनाना |

सामग्री प्रबंधन प्रणाली (CMS) में जूमला ड्रुपल और टाइपो 3 जैसे बहुत सारे सिस्टम हैं, हम सबसे लोकप्रिय सीएमएस, जो कि वर्डप्रेस है, उस पर ध्यान केंद्रित करेंगे।

एक क्लिक करने से  इसका इन्स्टालेशन ३० मिनट में  आसानी से होता है, इसलिए ये मुश्किल काम नहीं है।

विशेष रूप से वर्डप्रेस के लिए एक बहुत बड़ा लाभ यह है कि आपके पास हजारों प्लगइन्स हैं जो आपको अपनी वेबसाइट में विशेष सुविधाएँ जोड़ने की सुविधा देते हैं जो शुरू में शामिल नहीं हैं।

एक उदाहरण  एक WooCommerce प्लगइन जो एक पूर्ण ऑनलाइन स्टोर बना सकते  है।

फायदे :

  • आप होस्टिंग कंपनी चुन सकते हैं।
  • बहु-भाषा वेबसाइटों के लिए बढ़िया।
  • तकनीकी लचीलापन: आप पूरे स्रोत कोड का उपयोग कर सकते हैं।
  • आप प्लगइन्स के साथ अधिक सुविधाएँ प्राप्त कर सकते हैं।

कमिया :

  • कोई व्यक्तिगत तकनीकी सहायता नहीं।
  • रचनात्मक स्वतंत्रता टेम्पलेट पर निर्भर करती है।
  • इसमें प्लगइन्स की अतिरिक्त लागत हो सकती है।

वेबसाइट  बनाने की रेसिपी |

इस रेसिपी  के लिए लगने वाले व्यंजन क्या क्या है | इसके बारे में विस्तार से जान लेते है |

  • डोमेन
  • होस्टिंग
  • थीम
  • प्लगइन

डोमेन रजिस्टर करना| 

जैसे के हम अपने दुकान या ऑफिस शुरू  करते है | तो उसके साथ हमें अपने ऑफिस का एड्रेस मालूम हो जाता है |

उसी से हम लोगो को अपने ऑफिस तक पहुंचने का रास्ता बताते  है  की इस एड्रेस पे मेरा ऑफिस या शॉप है |  वैसे ही वेब की दुनिया में आप के पास पहुंचने के कुछ एड्रेस होना जरुरी है |  उसी एड्रेस को डोमेन कहते है | 

वेब की दुनिया में अपना ऑफिस या  शॉप बनाना है तो आपको  डोमेन खरीदने की आवश्यकता है।

www.webguide.in  में webguide ये  साइट का नाम  होगा |  आमतौर पर, .com एक्सटेंशन प्राप्त करना सबसे अच्छा है जब तक कि आप इंडिया (.in)  जैसे डोमेन ले सकते है ।

डोमेन नेम प्रणाली के बारे में विस्तृत जानकारी के लिए पढ़े | 

होस्टिंग क्या है  और उसे कैसे प्राप्त करे ?

आपने डोमेन लेके आपका अड्रेस तो तय किया लेकिन आगे क्या करना है होस्टिंग का क्या माजरा है अब ये सवाल मन में आया होगा | जान लेते है होस्टिंग के बारे मे |

होस्टिंग में हमें सर्वर पे कुछ जगह मिलती है | उस जगह पे हम अपनी शॉप या ऑफिस सजा सकते है |

जैसे की हम अपने लैपटॉप के हार्डडिस्क पे अलग अलग टाइप का डाटा स्टोर करके इसका  उपयोग करते है, वैसे ही जो सर्वर पे जगह मिलती है उसका इस्तमाल हम अपने वेबसाइट के लिए कर लेते है |  

इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए अलग से पोस्ट बनायीं है,  होस्टिंग कैसे होती है और उसे कैसे ख़रीदे

वर्डप्रेस CMS  प्रणाली |

डोमेन और वेब होस्टिंग लेने के बाद आती अपनी वेबसाइट को बनाना और सजाना | इसके लिए वर्डप्रेस जैसा दूसरा सिंपल ऑप्शन अभी तो दूर दूर तक नजर नहीं आता |

पहले तो वर्डप्रेस दुनिया में सबसे ज्यादा इस्तमाल होनेवाली प्रणाली है | हां और ये बिलकुल फ्री है  और उसे आसानी से इनस्टॉल कर  है |

इस  वर्डप्रेस प्रणाली से हम अच्छी वेबसाइट बना सकते है |  और कुछ अलग अलग फी बेस प्लगइन्स भी आप यूज़ कर सकते है |  

थीम क्या है और उसका इस्तमाल कैसे करे ?  

एक वर्डप्रेस थीम आपकी वेबसाइट का डिज़ाइन बदलती है, जिसमें अक्सर इसका लेआउट भी शामिल होता है।   इससे  हम रंग योजना, लेआउट और शैली  बदल के हमारी मनचाही तरीके से बना लेते है |

चित्र और वीडियो जैसे अन्य डिज़ाइन तत्व आपके विषय में कहीं भी शामिल किए जा सकते हैं। 

आपकी वेबसाइट का विषय आपके ब्रांड का प्रत्यक्ष प्रतिनिधित्व है और इसका आपके उपयोगकर्ताओं के अनुभव पर सीधा प्रभाव पड़ता है। 

 WordPress.org थीम डिरेक्टरी में हजारों मुफ्त वर्डप्रेस थीम हैं ।

उसमे से कुछ बेहतरीन थीम की लिस्ट 

प्लगइन क्या है और उसे यूज़ कैसे  करे ?

प्लगइन एक सॉफ्टवेयर का एक छोटासा टुकड़ा है जिसमें फ़ंक्शन का एक समूह होता है |  जिसे वर्डप्रेस में जोड़ा जा सकता है। इससे वेबसाइटों में नई सुविधाएँ जोड़ सकते हैं और कार्यक्षमता बढ़ा सकते है ।

जैसे हम अपने मोबाइल में अलग अलग  ऐप्स  इनस्टॉल कर के अपने मोबाइल को अपग्रेड करते है वैसे ही हम प्लगइन्स के जरिए अपने वेबसाइट पे जरुरत की चीजे डाल सकते है |  

इसी प्रकार से आपकी वेबसाइट तैयार हो जाएगी | और आप आगे आपके साइट के हिसाब से पिक्चर वीडियो और कई सारे डिटेल्स डाल के अपने साइट को चला सकते है | और अधिक जानकारी के अन्य पोस्ट देखे उससे आपको जो परेशानी महसूस होगी उसका सोलुशन  मिल जायेगा |

इसके आलावा किसी और जानकारी के लिए  कमेंट में लिखे या मुझे मेल कर सकते है |